Planning home loan : कर योग्‍य आय से 3,50,000 रूपए की कटौती: सेक्‍शन 80C और सेक्‍शन 24 के तहत होम लोन के लाभ

सेक्‍शन 80C और सेक्‍शन 24 आपको होम लोन के मूलधन के पुनर्भुगतान पर 1,50,000 रुपए की कटौती और ब्याज के भुगतान के लिए 2,00,000 रुपए की कटौती प्रदान कर सकते हैं। कर कटौती, होम लोन की कम ब्याज दरों, संपत्ति की स्थिर कीमतों और लोगों की आय में वृद्धि जैसे कारकों के संयोजन ने इसे आपके सपनों का घर खरीदने का सबसे अच्छा समय बना दिया है।

deduction from taxable income

कई लोगों के लिए, घर खरीदना सबसे बड़े और सबसे महत्वपूर्ण फैसलों में से एक होता है। इसलिए, संपत्ति, होम लोन और कर लाभों के बारे में सब कुछ जानना महत्वपूर्ण है। यह लेख सेक्शन 80C और सेक्शन 24 के तहत उपलब्ध होम लोन के कर लाभ पर केंद्रित है।

सेक्‍शन 80C क्‍या है?

आयकर अधिनियम का सेक्‍शन 80C व्यक्तियों को कुछ भुगतानों के संबंध में उनकी कर योग्य आय से कटौती का लाभ उठाने की सुविधा देता है। भुगतान कुछ निवेशों या खर्चों के रूप में हो सकते हैं। एक वित्तीय वर्ष में अनुमत अधिकतम कटौती की राशि भुगतान राशि या 1,50,000 रूपए में से जो भी कम हो वही होता है। 1,50,000 रुपए की कटौती का लाभ एक वित्तीय उत्पाद या कई वित्तीय उत्पादों के संयोजन के माध्यम से उठाया जा सकता है।

अब जब हम समझ गए हैं कि 80C क्या है, तो आइए इसके तहत कर-बचत वाले निवेशों को देखें।

सेक्‍शन 80C के तहत कटौती

एक व्यक्ति सेक्‍शन 80C के तहत निम्नलिखित के लिए कटौती का लाभ उठा सकता है:

  • खुद और परिवार के सदस्‍यों (जीवनसाथी और आश्रित बच्‍चे) के लिए भुगतान किया गया जीवन बीमा का प्रीमियम 
  • डेफर्ड एन्‍यूटी के लिए भुगतान की गई राशि
  • पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) में किया गया योगदान
  • किसी मान्यता प्राप्त इम्‍प्‍लॉय प्रोविडेंट फंड (EPF) में कर्मचारी का योगदान
  • स्वीकृत सूपरएन्यूएशन फंड में कर्मचारी का योगदान
  • नेशनल सेविंग्‍स सर्टिफिकेट (NSC) की सदस्यता
  • इक्विटी लिंक्ड सेविंग्स स्कीम (ELSS) में निवेश
  • दो बच्चों की फुल टाइम शिक्षा के लिए किसी भी स्कूल, कॉलेज या विश्वविद्यालय को दी जाने वाली ट्यूशन फीस
  • होम लोन के मूलधन का पुनर्भुगतान
  • बैंक या डाकघर में 5 साल की टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपॉजिट
  • सीनियर सिटिजन सेविंग्‍स स्‍कीम (SCSS) में योगदान
  • बालिकाओं के लिए सुकन्या समृद्धि अकाउंट (SSA) में योगदान

अब जब हमने 80C के तहत आने वाली चीजों की सूची बना ली है, तो आइए हम विशेष रूप से होम लोन के टैक्‍स लाभ के बारे में बात करते हैं।

होम लोन के मूलधन के पुनर्भुगतान के लिए सेक्‍शन 80C के तहत कटौती

सेक्शन 80C होम लोन के मूलधन के पुनर्भुगतान के लिए कर योग्य आय से कटौती की सुविधा देता है। एक वित्तीय वर्ष में अनुमत अधिकतम कटौती वास्तविक मूलधन की चुकाई गई राशि या 1,50,000 रुपए में से जो भी कम हो वही होगा। कटौती का लाभ उस वित्तीय वर्ष में लिया जा सकता है जिसमें मूलधन को चुकाया जाता है, भले ही गृह संपत्ति पर कब्जा अगले वित्तीय वर्ष में या उसके बाद प्राप्त हुआ हो।

निम्‍नलिखित उदाहरणों पर विचार करें:

a) एक व्यक्ति ने एक वित्तीय वर्ष में 80,000 रुपए का मूलधन चुकाया है। इस मामले में, सेक्शन 80C के तहत वह 80,000 रुपए की कटौती का लाभ उठा सकता है।
 b) एक व्यक्ति ने एक वित्तीय वर्ष में 1,75,000 रुपए का मूलधन चुकाया है। इस मामले में, अधिकतम 1,50,000 रुपए की सीमा लागू होगी। इसलिए, व्यक्ति सेक्‍शन 80C के तहत 1,50,000 रुपए की कटौती का लाभ उठा सकता है।

होम लोन के खर्चों के लिए कटौती

मूलधन के पुनर्भुगतान के अलावा, सेक्‍शन 80C होम लोने के कुछ अन्य खर्चों के लिए कटौती प्रदान करता है। इनमें स्टैंप ड्यूटी, पंजीकरण शुल्क और आवासीय घर की संपत्ति खरीदने के लिए व्यक्ति द्वारा किए गए कुछ अन्य खर्च शामिल हैं। कटौती का दावा उस वित्तीय वर्ष में किया जा सकता है जिसमें भुगतान किया जाता है, भले ही गृह संपत्ति का कब्जा अगले वित्तीय वर्ष में या बाद में प्राप्त हो।

ऐसी स्थितियां जिनके तहत कटौती रद्द कर दी जाएगी

अगर कोई व्यक्ति कब्जा मिलने के पांच साल के भीतर घर की संपत्ति बेच देता है, तो पिछले वर्ष में होम लोन के मूलधन के पुनर्भुगतान पर कोई कटौती की सुविधा नहीं होगी। साथ ही, पिछले वर्षों में स्वीकृत कटौतियों की कुल राशि व्यक्ति की आय मानी जाएगी और कर के अधीन होगी।

सेक्‍शन 24 के तहत कटौती

अगर किसी व्यक्ति ने आवासीय संपत्ति को होम लोन पर खरीदा है, तो आयकर अधिनियम के सेक्‍शन 24 के तहत कर योग्य आय से कटौती के रूप में ब्याज का दावा किया जा सकता है। एक वित्तीय वर्ष में अनुमत अधिकतम कटौती भुगतान किया गया वास्तविक ब्याज या 2,00,000 रुपए में से जो भी कम हो वही होता है।

कटौती का लाभ केवल तभी उठाया जा सकता है यदि संपत्ति 1 अप्रैल 1999 को या उसके बाद होम लोन के साथ ली गई है, और संपत्ति का अधिग्रहण होम लोन लेने के पांच साल के भीतर पूरा हो गया है।

निर्माण अवधि के दौरान भुगतान किए गए ब्याज के लिए कटौती

अधिग्रहण से पहले की अवधि के दौरान भुगतान किए गए ब्याज के लिए कटौती का लाभ संपत्ति के अधिग्रहण के बाद लिया जा सकता है। ब्याज राशि का दावा पांच साल में समान किश्तों में किया जा सकता है। उदाहरण के लिए, राजेश ने निर्माण अवधि के दौरान 75,000 रुपए के ब्याज का भुगतान किया। इस मामले में, राजेश उस वर्ष से पांच साल तक हर साल 15,000 रुपए की कटौती का लाभ उठा सकता है, जिसमें उसे कब्जा मिलता है।

होम लोन की कम ब्याज़ दरें - घर खरीदारों के लिए अतिरिक्त लाभ

उपरोक्त सेक्‍शन में, हमने चर्चा की है कि कैसे एक घर खरीदार मूलधन भुगतान के लिए सेक्‍शन 80C और ब्याज भुगतान के लिए सेक्‍शन 24 के तहत कटौती का लाभ उठा सकता है। कर कटौती के अलावा, घर खरीदार वर्तमान में (अप्रैल 2023) होम लोन की कम ब्याज दरों का लाभ उठा सकते हैं। अधिकतर वित्तीय संस्थान 6.5% से 7.0% की ब्याज दर सीमा में होम लोन प्रदान कर रहे हैं।

दूसरी ओर, पिछले कुछ वर्षों से घर की कीमतें स्थिर बनी हुई हैं, और लोगों की खर्च करने योग्य आय में वृद्धि हुई है। इसलिए, लोगों की आय में वृद्धि, कर कटौती, होम लोन की कम ब्याज दरों और संपत्ति की स्थिर कीमतों जैसे कारकों के संयोजन ने घरों की मांग को बढ़ाया है। इसलिए, यदि आप घर खरीदना चाह रहे हैं, तो यह आपके सपनों का घर खरीदने का सबसे अच्छा समय है।

M Stock

संवादपत्र

संबंधित लेख