केंद्रीय बजट 2022: क्या महंगा हुआ और क्या सस्ता

बजट 2022 के बाद विभिन्न वस्तुओं की कीमतों में बदलाव के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करें।

केंद्रीय बजट 2022: क्या महंगा और क्या सस्ता पर एक नजर

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा घोषित केंद्रीय बजट 2022 में बुनियादी ढांचे, स्टार्ट- अप्स, कर, शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा और अधिक महत्वपूर्ण घोषणाएं की गईं। घरेलू सामान, आभूषण, विनिर्माण और कृषि उपकरण जैसे कई अन्य आवश्यक रोज़मर्रा की वस्तुओं पर भी घोषणाएं की गईं।

नए कस्टम ड्यूटी प्रावधानों को जानने के लिए पढ़ें, बजट के बाद क्या अधिक महंगा हो गया, और अब क्या सस्ता है।

यह भी पढ़ें: केंद्रीय बजट 2022: मुख्य विशेषताएं 

महंगी हुई वस्तुओं की सूची

  • छतरियों पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाकर 20% कर दिया गया है, जिससे इसकी कीमत बढ़ गई है।
  • सभी आयातित वस्तुओं पर सीमा शुल्क बढ़ा दिया गया है। निम्नलिखित उत्पाद अब अधिक महंगे होंगे:
  • नकली गहने
  • स्मार्ट मीटर
  • सिंगल और मल्टीपल लाउडस्पीकर
  • सम्मिश्रण के बिना ईंधन
  • हेडफोन
  • ईयरफ़ोन
  • सोलर सेल
  • एक्स-रे मशीन
  • सोलर मॉड्यूल
  • इलेक्ट्रॉनिक खिलौनों के पुर्जे

इसके अलावा, सरकार ने क्रिप्टोकरेंसी जैसी डिजिटल परिसंपत्तियों पर बिना किसी नुकसान की भरपाई के 30% आयकर की घोषणा की है, जिससे व्यापारियों की लागत काफी हद तक बढ़ गई है।

यह भी पढ़ें: 5 साल में इनकम टैक्स स्लैब में बदलाव पर एक नजर

सस्ती हुई वस्तुओं की सूची

एक ओर जहां कुछ चीजें महंगी हो गई हैं, वहीं कई अन्य चीजों के दाम कम हो जाएंगे। यहां देखें कि क्या सस्ता हुआ:

  • कटे और पॉलिश्ड हीरे और रत्नों पर सीमा शुल्क में 5% की कटौती से रत्न और हीरे भविष्य में सस्ते हो जाएंगे।
  • देश के बाहर निर्मित उन्नत प्रकार की मशीनरी के लिए छूट पहले की तरह जारी रहेगी।
  • पिछले साल शुरू की गई स्टील स्क्रैप पर कस्टम ड्यूटी छूट एक साल के लिए और बढ़ा दी जाएगी।

बजट में उल्लिखित अन्य वस्तुएं जो अब सस्ती हो जाएंगी, उनमें शामिल हैं:

  • वस्त्र
  • सेलुलर मोबाइल फोन के लिए कैमरा लेंस
  • मोबाइल फोन
  • चमड़े के सामान
  • मोबाइल चार्जर
  • फ्रोज़न मसल्स
  • फ्रोज़न स्क्विड
  • हींग
  • कोको बीन्स
  • मिथाइल अल्कोहल
  • एसिटिक एसिड
  • पेट्रोलियम उत्पादों के लिए रसायन
  • इलेक्ट्रॉनिक आइटम
  • विद्युत ट्रांसफार्मर
  • आयातित मशीनें
  • कृषि उपकरण
  • दवाइयाँ
  • चिकित्सा उपकरण

यह भी पढ़ें: केंद्रीय बजट 2021-22 की मुख्य बातें

अंतिम शब्द

भारत सरकार आने वाले वर्षों में 350 से अधिक कस्टम ड्यूटी छूट को समाप्त करने की योजना बना रही है। इन उत्पादों की कीमतों में परिणामी बदलाव से कई व्यवसायों और घरों पर असर पड़ने की संभावना है। एक ओर जहाँ कुछ सीमा शुल्क कटौती आपको पैसे बचाने में मदद कर सकती है, वहीं बढ़ोतरी आपके बजट के रास्ते में आ सकती है। इसलिए अच्छे वित्तीय निर्णय लेने का प्रयास करें।

संवादपत्र

संबंधित लेख