Mukesh Ambani: SAT ने मुकेश अंबानी पर लगे 25 करोड़ रुपये जुर्माने को किया रद्द, सेबी को लौटाने होंगे पैसे

भारत के सबसे अमीर कारोबारी और रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी को एक पुराने मामले में प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (SAT) से बड़ी राहत मिली है।

Mukesh Ambani

Mukesh Ambani: प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (SAT) ने रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के अध्यक्ष मुकेश अंबानी पर भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) के 25 करोड़ रुपये के जुर्माने को रद्द कर दिया है। साथ ही सेबी को जुर्माना वापस करने का निर्देश दिया गया है। यह मामला साल 2021 का है, जब सेबी ने टेकओवर कोड के प्रावधानों का उल्लंघन करने के लिए मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी समेत अंबानी परिवार के 15 सदस्यों पर जुर्माना लगाया था। एसएटी ने कहा कि अपीलकर्ता पर जुर्माना लगाना कानून के अधिकार के बिना है और यह भी पाया गया कि अपीलकर्ताओं ने एसएएसटी के विनियमन 11(1) का उल्लंघन नहीं किया है।

एसएएसटी का मतलब शेयरों का पर्याप्त अधिग्रहण और अधिग्रहण विनियम 2011 है। आपको बता दें कि 1994 में जारी 3 करोड़ वॉरंटों के रूपांतरण के बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज में प्रमोटर हिस्सेदारी जनवरी 2020 में 6.83 प्रतिशत बढ़ गई। हालांकि, यह आरोप लगाया गया कि प्रमोटर समूह भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड के अनुसार खुली पेशकश करने में विफल रहा।
मौजूदा नियमों के अनुसार, 5 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी हासिल करने वाले प्रमोटर समूह को चालू वित्तीय वर्ष के भीतर अल्पसंख्यक निवेशकों के लिए एक खुली पेशकश करने की जरूरत होती है। 

सेबी ने अपने आदेश में बताया कि मामले में प्रमोटर समूह और अन्य नोटिस प्राप्तकर्ताओं ने अधिग्रहण नियमों के विनियमन 11(1) का उल्लंघन किया है। सेबी ने अपने फैसले में मुकेश अंबानी, अनिल अंबानी, कोकिलाबेन अंबानी, नीता अंबानी, टीना अंबानी, रिलायंस इंडस्ट्रीज होल्डिंग, रिलायंस रियल्टी और अन्य पर 25 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था। अब प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण द्वारा मुकेश अंबानी और उनकी फैमिली को बड़ी राहत मिली है।

NEWSLETTER

Related Article

Premium Articles

Union Budget